Homeतत्काल प्रभावकोरोना के बाद चीन से आ रही एक और तबाही! लांग्या वायरस...

कोरोना के बाद चीन से आ रही एक और तबाही! लांग्या वायरस के 35 नए मामले मिले, जानें कितना खतरनाक

चीन में लांग्या वायरस नाम के नए वायरस का पता चला है। ये वायरस अब तक 35 लोगों को संक्रमित कर चुका है। अगर इस वायरस के मामले घातक हो जाएं तो ये इंसानों की जान ले सकते हैं। लेकिन इसके बावजूद सभी संक्रमितों में बुखार के हल्के लक्षण ही हैं।

- Advertisement -

चीन से निकले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचाई है। अब एक और डराने वाली खबर आई है। डॉक्टरों ने एक नए वायरस को लेकर चेतावनी दी है। इस वायरस से चीन में दर्जनों लोग संक्रमित हुए हैं। इस वायरस का नाम हेनिपावायरस या लांग्या वायरस (Langya virus ) है। ये वायरस जानवर से फैला है। चीनी मीडिया ने बताया कि अब तक शेडोंग और हेनान प्रांत में 35 लोग संक्रमित हो चुके हैं। ये एक गंभीर वायरस है। इससे संक्रमित व्यक्ति अगर गंभीर हो जाए तो तीन चौथाई संक्रमितों की मौत हो सकती है।

हालांकि अभी तक कोई भी मौत देखने को नहीं मिली है। सभी मामले लगभग हल्के हैं। मरीजों में फ्लू के लक्षण हैं। गले के स्वैब से लिए गए सैंपल से इस वायरस का पता चला है। इससे जुड़ी स्टडी में भाग लेने वाले स्कॉलर्स का कहना है कि संभव है कि ये वायरस जानवरों से फैला हो। संक्रमित लोगों में थकान, खांसी और मतली के लक्षण हैं। अभी वर्तमान में लांग्या वायरस का कोई टीका या उपचार नहीं है। हालांकि अभी सिर्फ देखभाल ही एक मात्र उपचार है। ये वायरस छोटे स्तनधारी जैसे हेजहॉग और मोल्स के जरिेए फैलते हैं।

2019 में मिला था पहला वायरस

इस वायरस को लेकर पब्लिश की गई एक स्टडी में पिछले साल खुलासा किया गया था कि ये सबसे पहले इंसानों में 2019 में मिला था। वहीं ये इस साल का सबसे हालिया मामला है। वायरस की जांच कर रहे चीनी विशेषज्ञों का मानना है कि इंसानों में इसके मामले छिटपुट होते हैं। वह अभी ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या ये एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है। बीजिंग इंस्टीट्यूट ऑफ माइक्रोबायोलॉजी एंड एपिडेमियोलॉजी के नेतृत्व में हुई स्टडी न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में पब्लिश की गई है।

निपाह वायरस की फैमिली से आते हैं लांग्या वायरस

लैंग्या वायरस निपाह वायरस की फैमिली से आते हैं, जो एक घातक वायरस है। निपाह वायरस आम तौर पर चमगादड़ में पाए जाते हैं। कोविड की तरह निपाह भी सांस लेने से निकली बूंदों से फैल सकता है। WHO ने निपाह को अगली महामारी का कारण बनने वाले वायरस के एक रूप में लिस्ट किया है। निपाह से जुड़ी कोई भी वैक्सीन अभी मौजूद नहीं है।

Trending

भारतीय टीम ने दूसरे टी-20 मैच में ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हरा दिया, रोहित शर्मा बने ‘सिक्सर किंग, T20 क्रिकेट के इतिहास में...

इस मैच में टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने शानदार 46 रनों की नाबाद पारी खेली। रोहित ने अपने टी-20 करियर में नई...

उत्तराखंड: हल्द्वानी क्षेत्र में हुई सनसनी चोरी की घटना का कोतवाली हल्द्वानी पुलिस ने 24 घण्टे के अन्दर किया, पुलिस ने चोर को किया...

विगत दिवस चझुं तेजवानी पुत्र एस एस ० तेजवानी निवासी धर्मपाल कालोनी बरेली हल्द्वानी की लिखित तहरीर देते हुए अज्ञात चोरों द्वारा वादी के...

डियम जाने के दौरान ट्रैफिक में जब टीम इंडिया की बस फंस गई, नागपुर की बजाय सीधे हैदराबाद जाने का बन गया था प्लान.

वर्षाबाधित मैच में दो विकेट निकालते हुए भारत की जीत की स्क्रिप्ट लिखी। ऑस्ट्रेलिया से तीन मैच की टी-20 सीरीज अब 1-1 की बराबरी...

Must Read

error: Content is protected !!